ग्राम चौपाल के वार्षिकोत्सव पर आयोजित मेले का सांसद बहराइच ने किया उद्घाटन

0
15
Advertisement

बहराइच । ग्राम चौपाल (गांव की समस्या, गांव में समाधान) अभियान के सफलतापूर्वक एक वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में विकास भवन में आयोजित 02 दिवसीय मेले/प्रदर्शनी/गोष्ठी का मुख्य अतिथि सांसद बहराइच अक्षयवर लाल गोंड ने एम.एल.सी. डॉ. प्रज्ञा त्रिपाठी, विधायक नानपारा राम निवास वर्मा, मुख्य विकास अधिकारी रम्या आर., एमएलसी पदमसेन चौधारी के प्रतिनिधि परमार्थ सेन चौधरी के साथ फीता काटकर कर व दीप प्रज्ज्वलित कर मेले का शुभारम्भ कर विभिन्न विभागों द्वारा लगाये गये स्टालों का अवलोकन करते हुए आईसीडीएस के स्टाल पर गर्भवती महिलाओं की गोद भराई की तथा बच्चों को अन्नप्रासन कराया।
इस अवसर पर विकास भवन सभागार में आयोजित प्रेस वाता के दौरान गोंड ने बताया कि वर्ष 2023 में ग्राम चौपाल अभियान के दौरान 14 विकास खण्डों की 775 ग्राम पंचायतों में चौपाल का आयोजन कर 2613 समस्याओं का समाधान कराकर 45487 लोगों को लाभान्वित किया गया। गोंड ने कहा कि आयोजन के पीछे सरकार की यही मंशा है कि ग्राम चौपाल के माध्यम से लोगों की छोटी-मोटी समस्याओं का समाधान स्थानीय स्तर पर की करा दिया ताकि फरियादी को अनावश्यक भाग-दौड़ न करनी पड़े।
सांसद श्री गोंड ने बताया कि वर्ष 2024 तक सभी को आवास उपलब्ध कराने की सरकार की प्रतिबद्धता को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण अन्तर्गत वित्तीय वर्ष 2016-17 से अब तक लक्ष्य 184888 के सापेक्ष शत-प्रतिशत की स्वीकृति प्रदान कर 166701 आवास पूर्ण कराए गये हैं जो लक्ष्य का 90.02 प्रतिशत है। जबकि मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत वित्तीय वर्ष 2018-97 से अब तक लक्ष्य 3851 के सापेक्ष 3847 की स्वीकृति प्रदान कर 3022 आवास पूर्ण कराए गये हैं जो लक्ष्य का 78.5 प्रतिशत है। शेष आवासों का निर्माण कार्य प्रगति पर है जिसे इसी वित्तीय वर्ष में पूर्ण कर लिया जाएगा।
गोंड ने बताया कि महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना के तहत वित्तीय वर्ष 2023-24 में कुल प्राप्त हुए लेबर बजट रू. 294.30 करोड के सापेक्ष माह नवम्बर 2023 तक रू. 258.52 करोड व्यय कर 88.70 लाख मानव दिवस सृजित किया गया है जो लक्ष्य का 96.00 प्रतिशत है। वित्तीय वर्ष 2022-23 में जनपद में 1045 कैटल शेड, 4200 सोकपिट, 31 अस्थाई गोशालाओं का निर्माण किया गया है एवं वित्तीय वर्ष 2023-24 में 87 नवीन/ विस्तारीकरण हेतु अस्थाई गौ-आश्रय स्थलों का चयन किया गया है जिसमें से 77 का कार्य पूर्ण करा दिया गया है। मनरेगा योजनान्तर्गत जनपद में 41.30 लाख महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराया गया है। वित्तीय वर्ष में 2022-23 में जल संरक्षण एवं जल सम्बर्धन के अन्तर्गत एक एकड से अधिक के 209 अमृत सरोवरो कोें पूर्ण करा दिया गया है तथा वित्तीय वर्ष 2023-24 में 279 का चयन कर निर्माण की कार्यवाही करायी जा रही है। सांसद गोंड ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, दीनदयाल अन्त्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन अन्तर्गत अर्जित की गई उपलब्धियों का भी विवरण प्रस्तुत किया।
इस अवसर पर डीडीओ महेन्द्र कुमार पाण्डेय, पीडी डीआरडीए राज कुमार, डीसी मनरेगा के.डी. गोस्वामी व अन्य जिला स्तरीय अधिकारी, गणमान्य व संभ्रान्तजन, खण्ड विकास अधिकारी तथा विभिन्न योजनाओं के लाभार्थी मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here