पचास लाख या उससे अधिक लागत कि निर्माण कार्य संबंधी परियोजनाओं हुई समीक्षा बैठक

0
3
Advertisement

शाहजहांपुर। जिलाधिकारी उमेश प्रताप सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जनपद में संचालित 50 लाख से अधिक लागत की परियोजनाओं के कार्यों की प्रगति की समीक्षा बैठक संपन्न हुई। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने सभी कार्यदायी संस्थाओं के प्रतिनिधियों को सख्त निर्देश दिए कि कार्यों को पूर्ण गुणवत्ता के साथ निर्धारित समयावधि में पूर्ण किया जाये। जिलाधिकारी ने कहा कि परियोजनाओं के पूर्ण होने के उपरान्त कार्यों की गुणवत्ता जांच कराते हुये हस्तांतरण की कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। उन्होने सभी 70 प्रतिशत से अधिक पूर्ण निर्माणाधीन परियोजनाओं से सम्बन्धित अधिकारियों को नवम्बर माह में शतप्रतिश कार्य पूर्ण कर हस्तगत कराने की कार्यवाही करने हेतु निर्देश दिये। समीक्षा के दौरान सहबाजनगर एवं ग्राम घुसगवां मे गौ संरक्षण केन्द्र का निर्माण कार्य एक सप्ताह में शुरू करने हेतु कार्यदायी संस्था यूपीसीएलडीएफ को निर्देश दिये। विधानसभा क्षेत्र कटरा विकास खण्ड मदनापुर स्थित अति प्राचीन शिव मन्दिर के पर्यटन विकास परियोजना हेतु गठित जांच समिति द्वारा जांच आख्या बिना हस्ताक्षर उपलब्ध कराये जाने पर जिलाधिकारी ने कड़ी आपत्ति व्यक्त करते हुये उप जिलाधिकारी तहसील तिलहर, सहायक अभियंता पीडबल्यूडी सुरेन्द्र कुमार, पर्यटन सूचना अधिकारी मनीष कुमार का वेतन रोकने तथा जवाब तलब करने के निर्देश दिये। प्रोजेक्ट अंलकार योजनान्तर्गत विभिन्न निर्माण परियोजनाओं की भ्रमक रिपोर्ट प्रस्तुत करने पर जिलाधिकारी ने पूर्व डीआईओएस शौकीन सिंह यादव के विरूद्ध कार्यवाही हेतु निर्देशित किया। राजकीय एलोपैथिक मेडीकल कालेज के निर्माण कार्य में महाप्रबन्धक उ0प्र0 राजकीय निर्माण निगम बरेली उपसंविदाकार का अनुबन्ध निरस्त होने पर जल्द पुनः निविदा आमंत्रण की कार्यवाही सुनिश्चित किये जाने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिये। तहसील तिलहर के अनावासीय भवनों के निर्माण कार्य की धीमी गति पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुये सम्बन्धित कार्यदायी संस्था को नोटिस जारी करने हेतु निर्देशित किया। साथ ही उन्होने निर्देश दिये कि निर्माण कार्य में मानक के अनुसार गुणवत्तपूर्ण सामग्री उपयोग की जाये। राजकीय पॉलीटेक्निक पुवायां महिला छात्रावास निर्माण की जांच आख्या व हनुमतधाम के तट पर घाट निर्माण तथा सौन्दर्यकरण कार्य की जांच आख्या दो दिनों में उपलब्ध करने हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये। आईटीआई खुटार की नवनिर्मित बिल्डिंग को लेकर जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि उद्देश्य की प्रतिपूर्ति हेतु आईटीआई भवन को उपयोग में लाया जाये तथा हस्तगत की कार्यवाही जल्द पूर्ण की जाये। साथ ही उन्होने स्टाफ तैनाति हेतु पत्र प्रेषित करने के निर्देश भी सम्बन्धित अधिकारी को दिये। राजकीय निर्माण कार्यो में यदि कोई बाधा उत्पन्न करता है तो उसके विरूद्ध कठोर कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारएसबी सिंह, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी बाबूलाल, बीएसए रणवीर सिंह, अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी मो0 खालिद सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here