जिले के दूरस्थ ग्राम भरथापुर पहुंच ग्रामवासियों से रूबरू हुई जिलाधिकारी

0
17
Advertisement

बहराइच । जिलाधिकारी मोनिका रानी व पुलिस अधीक्षक प्रशांत वर्मा ने जिले के अन्य अधिकारियो के साथ गेरुआ व कौड़ियाला नदियों तथा कतर्नियाघाट वन्यजीव विहार के सुरम्य वनों के बीच आबाद जनपद के दूरस्थ ग्राम भरथापुर पहुंचकर ग्रामवासियों से रू-ब-रू होते हुए उनकी रोज़मर्रा की जिन्दगी, रहन सहन के तरीकों, जीविकोपार्जन के संसाधनों के बारे में जानकारी प्राप्त की। दूरस्थ ग्राम भरथापुर पहुंचने पर ग्रामवासियों ने परम्परागत ढंग से जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक का स्वागत किया। एक महिला जिलाधिकारी के इतने दुरूह ग्राम पहुंचने पर जहां एक ओर ग्राम की महिलाओं में अलग सी प्रसन्नता देखने को मिली वहीं जिलाधिकारी का ग्राम में महिलाओं के साथ सादगी व अपनत्व के साथ मिलते हुए एक-एक घर पहुंचकर कुशल क्षेम पूछने से माहौल एक बेटी के घर लौट कर आने जैसा हो गया। डीएम व एसपी ने मौजूद अधिकारियों के साथ पूरे ग्राम का विस्तृत भ्रमण कर संभावित बाढ़ के दौरान ग्राम के समक्ष उत्पन्न होने वाली कठिनाईयों का जायज़ा लेते हुए ग्रामवासियों को आश्वस्त किया कि बाढ़ के दौरान जिला प्रशासन द्वारा उन्हें हर संभव राहत व सहायता प्रदान की जाएगी। जिलाधिकारी ने ग्राम वासियों के आवागमन के लिए दो नई नाव भी ग्रामवासियों को भेंट की।
ग्राम में आयोजित चौपाल के दौरान डीएम ने ग्रामवासियों को आश्वस्त किया कि पेंशन योजनाओं सहित अन्य सोशल सेक्टर की योजनाओं से पात्र लोगों लाभान्वित कराया जायेगा। चौपाल के दौरान जिलाधिकारी ने 51 आयुष्मान गोल्डेन कार्ड का वितरण किया गया। साथ ही 15 नये गोल्डेन कार्ड के आवेदन पत्र स्वीकृत किये गये। इसके अलावा सभी प्रकार की पेंशन योजना से सम्बन्धित पात्र लोगों को पंजीकरण भी कराया गया। 12 श्रम कार्ड बनाये गये। चौपाल के दौरान ग्राम वासियों ने डीएम को बताया कि हम लोगों को खाद्यान्न लेने नदी के उस पार जाना पड़ता है इसपर जिलाधिकारी ने मौके पर ही डीएसओ को निर्देश दिया कि माह के 15 तारीख तक ग्राम में ही खाद्यान्न लाकर वितरण किया जाय। चौपाल के दौरान डीएम ने खण्ड विकास अधिकारी को निर्देश दिया कि ग्राम में रूक कर पेंशन योजनाओं हेतु पात्र लोगों का पंजीकरण कराएं। जिलाधिकारी के निर्देश पर ग्राम भरथापुर में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य शिविर भी लगाया गया। जहां पर ग्रामवासियों के स्वास्थ्य का परीक्षण कर उन्हें उचित परामर्श के साथ निःशुल्क दवाओं इत्यादि का वितरण भी किया गया। इसके अलावा पशुओं का टीकारण व दवाई इत्यादि का भी वितरण किया गया। जिलाधिकारी ने मौजूद ग्रामवासियों को बिस्कुट, मिष्ठान व फल का भी वितरण किया।
मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया गया कि ग्रामवासियों को बकरी पालन योजना से आच्छादित किया जाय। डीएम ने ग्रामवासियों को आश्वस्त किया कि विस्थापन की कार्यवाही को शीघ्र पूर्ण कराये जाने का प्रयास किया जायेगा।  इस अवसर पर प्रभागीय वनाधिकारी कतर्नियाघाट आकाशदीप बधावन, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एस.के. सिंह, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, उप जिलाधिकारी संजय कुमार, जिला पंचायत राज अधिकारी राघवेन्द्र द्विवेदी, डीपीओ राजकपूर, जिला पूर्ति अधिकारी नरेन्द्र तिवारी, उपायुक्त श्रम सिद्धार्थ मोदियानी, श्रम प्रवर्तन अधिकारी रिजवान, खण्ड विकास अधिकारी अजीत कुमार सिंह सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी, कर्मचारी मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here