जिलाधिकारी की अध्यक्षता मे जल जीवन मिशन के कार्यो की समीक्षा बैठक सम्पन्न

0
19
Advertisement

शाहजहाँपुर।  जिलाधिकारी उमेश प्रताप सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित वीसी कक्ष में जल जीवन मिशन के अंतर्गत कराए गए कार्यों की समीक्षा बैठक संपन्न हुई। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिए की पाइप लाइन डलवाए जाने के उपरांत रिस्टोरेशन के कार्यों को पूर्ण गुणवत्ता के साथ पूरा कराया जाए। रीस्टोरेशन कार्यों की खराब गुणवत्ता पर ठेकेदार को नोटिस जारी करते हुए चेतावनी दी कि लापरवाही करने पर कड़ी विधिक कार्यवाही की जाएगी। जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि आगामी शुक्रवार को समस्त गांवो मे कराये गये रिस्टोरेशन के कार्यो की फोटो (कार्य होने के पूर्व एवं पश्चात) विवरण के साथ प्रस्तुत किये जाये। इसके साथ ही उन्होने ओवर हेड टैंक एवं अन्य कार्यो की जांच आईआईटी स्तर के संस्थान से कराये जाने के निर्देश दिये। घरों में कनेक्शन का कार्य मानको के अनुरूप शतप्रतिशत कराये जाने हेतु भी निर्देशित किया। उन्होने कहा कि रिस्टोरेशन के कार्यो को मिशन मोड पर पूर्ण कराया जाये। लापरवाही पाये जाने पर प्राथमिकी दर्ज कराते हुये विधिक कार्यवाही की जायेगी।
ग्रामीणों को स्वच्छ जल के उपयोग के प्रति जागरूक करने एवं स्वच्छता के प्रति उनका व्यवहार परिवर्तन करने हेतु प्रेरित किए जाने के उद्देश्य से तैनात किए गए आई.एस.ए. (इम्प्लीमेंटेशन सपोर्ट एजेंसी) के कार्यों की भी जिलाधिकारी ने समीक्षा की। जिलाधिकारी ने भावना सेवा संस्थान एवं भूषण सेवा संस्थान का यूजर चार्जेज कलेक्शन में खराब प्रदर्शन मिलने पर नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी आई.एस.ए. संस्थाओं में तैनात कर्मचारियों का भौतिक सत्यापन कर यह सुनिश्चित किया जाये कि सभी संस्थाओं द्वारा निर्धारित मानकों के अनुरूप पूर्ण जनशक्ति तैनात की गई है। उन्होंने आई.एस.ए. संस्थाओं द्वारा प्रतिदिन किए गए कार्यों की डायरी तैयार कराए जाने एवं इनके कार्यों का प्रतिदिन अनुश्रवण किए जाने हेतु भी निर्देशित किया। निर्माण कार्यों की गुणवत्ता की जांच हेतु तैनात थर्ड पार्टी संस्था के प्रतिनिधियों को निर्देश दिए कि कार्यों की जांच के उपरांत आब्जर्वेशन अवश्य प्रस्तुत करें।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here