पूर्ण क्षमता के साथ संचालित किये जाएं कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्र: डीएम

0
14
Advertisement

बहराइच । कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला कौशल समिति एवं प्रशिक्षण प्रदाताओं की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी मोनिका रानी ने कहा कि आकांक्षात्मक जनपद बहराइच के युवाओं में स्किल डेवलपमेन्ट में प्रशिक्षण संस्थाओं की अत्यन्त महत्वपूर्ण भूमिका है। इसलिए कौशल विकास से सम्बन्धित सभी स्टेक होल्डर्स बेहतर समन्वय के साथ कड़ी मेहनत व परिश्रम से कौशल विकास को गति प्रदान करने में सहयोग प्रदान करें। डीएम ने प्राधानाचार्य आईटीआई को निर्देश दिया कि विभिन्न शासकीय विभागों यथा विद्युत, सिंचाई इत्यादि विभागों से समन्वय कर अधिक से अधिक बच्चों को अप्रेन्टिस के लिए समायोजित कराये।
डीएम मोनिका रानी ने निर्देश दिया कि अधिक से अधिक युवाओं को रोज़गार मिले सके इसके ज़रूरी है कि स्थानीय आवश्यकताओं के अनुसार युवक-युवतियों के लिए ट्रेड्स का निर्धारण किया जाय। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित समूहों की महिलाओं को कौशल विकास मिशन से लिंकअप करते हुए प्रशिक्षण दिया जाय। डीएम ने कहा कि मोबाइल रिपेयरिंग, प्लम्बरिंग, बुके निर्माण, इलेक्ट्रीशियन तथा कृषि आधारित ट्रेडों में युवकों को प्रशिक्षित किया जाय ताकि उन्हें आसानी के साथ रोज़गार उपलब्ध हो सके। डीएम ने प्रधानाचार्य आईटीआई को निर्देश दिया कि जनपद में एजेन्सीवार संचालित प्रशिक्षण संस्थाओं तथा उनमें प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे युवाओं का सम्पूर्ण विवरण उपलब्ध कराएं। डीएम ने निर्देश दिया कि वर्ष 2021-22 व 2022-23 में प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं के प्लेसमेन्ट का विवरण भी उपलब्ध कराया जाय।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी रम्या आर., जिला विकास अधिकारी महेन्द्र कुमार पाण्डेय, उपायुक्त मनरेगा के.डी. गोस्वामी, सहायक श्रमायुक्त सिद्धार्थ मोदियानी जिला सेवायोजन अधिकारी संजय कुमार, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी संजय मिश्रा, डीपीआरओ राघवेन्द्र द्विवेदी, ईओ/प्रभारी डूडा प्रमिता सिंह, प्रधानाचार्य आईटीआई स्मृति शर्मा, निदेशक आरसेटी रीति कुमारी, प्रधानाचार्य राजकीय बालिका इण्टर कालेज किरन देवी सहित अन्य अधिकारी व प्रशिक्षण प्रदाता एजेन्सियों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here