राजनीति के अजात शत्रु थे अटल जी : धर्मपाल सिंह

0
9
Advertisement

बाराबंकी। भाजपा के संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह ने कहा कि अटल जी राजनीति के अजातशत्रु थे। उनके पास सभी परिस्थितियों में कार्य करने की अद्भुत क्षमता थी। उन्होनें भारत की राजनीति को आइना दिखाया, नई दिशा दी, सुशासन की नींव रखी, स्थिर सरकारें, जनता जनार्दन के लिए कैसे उपयोगी होती हैं, इसकी शुरुआत अटल बिहारी ने 1998 से प्रारंभ की। आज वही परंपरा चल रही है। घरेलू हो या विदेशी मोर्चा, अटल जी राह बनाते गए। आज प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देशवासी उसी स्वरूप को नए रूप में देख रहे हैं। इस दौरान उन्होंने 100 दिव्यांगो को ट्राइसाइकिल, 47 किसानों को लघु सिंचाई पंप सेट सहित पीएम स्वनिधि, पीएम शहरी व ग्रामीण आवास सहित विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों एवम स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को सम्मानित किया।
मुख्य अतिथि ने कहा कि गरीबों के लिए बनने वाली योजनाओं, इन्फ्रास्ट्रक्चर के बड़े बड़े कार्य, वैश्विक मंच पर भारत को मिल रहे सम्मान व विरासत पर गर्व करने की आधार शिला अटल जी ने रखी थी। क्षेत्रीय प्रभारी संजय राय ने कहा कि अटल जी समन्वय स्थापित करने की अनोखी मिसाल थे। राज्यमंत्री सतीश चंद्र शर्मा ने कहा कि यह भी अद्भुत संयोग है कि यह वर्ष अटल जी की जन्म जयंती का शताब्दी वर्ष है और इसी वर्ष में 22 जनवरी को पीएम मोदी के करकमलों से अयोध्याजी में प्रभु राम के भव्य मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा होगी। स्थानीय नगर पालिका में भी अटल जयंती पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर जिला प्रभारी अवनीश सिंह, जिला अध्यक्ष अरविंद कुमार मौर्य, सांसद उपेंद्र सिंह रावत, सांसद लल्लू सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष राजरानी रावत, एमएलसी अंगद सिंह, विधायक दिनेश रावत, पूर्व सांसद बैजनाथ रावत, पूर्व एमएलसी हरगोविंद सिंह, अवधेश श्रीवास्तव, शशांक कुसुमेश, संदीप गुप्ता, शील रत्न मिहिर, विजय आनंद बाजपेई, गुरुशरण लोधी, सीता शरण वर्मा, राम सिंह वर्मा मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here