मण्डलायुक्त की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई विकास कार्यों की समीक्षा बैठक

0
7
Advertisement

बहराइच । आयुक्त देवीपाटन मण्डल गोण्डा योगेश्वर राम मिश्र ने कलेक्ट्रेट सभागार बहराइच में मुख्यमंत्री जी की प्राथमिकता से सम्बन्धित विकास कार्यों की विभागवार समीक्षा करते हुए उद्यान विभाग को निर्देश दिया कि मण्डनीय जनपदों में खेती में अभिनव पहल करने वाले कृषकों के क्षेत्र का भ्रमण कर उनके प्रयासों को विस्तार दिया जाय। आयुक्त ने निर्देश दिया कि जनपदों में साईन हुए एमओयू विशेषकर सौर ऊर्जा से सम्बन्धित प्रस्तावों को तत्काल धरातल पर क्रियान्वित कराये जाने का प्रयास किया जाय। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि वास्तविक उद्यमियों के साथ एमओयू साइन किये जाएं जिससे जिलों में उद्योगों की स्थापना हो।
वन विभाग की समीक्षा के दौरान आयुक्त ने वन एवं वन्यजीवों के संरक्षण को शीर्ष प्राथमिकता प्रदान करने के साथ-साथ पेड़ों के अवैध कटान व वन्य जीवों के अवैध शिकार पर अंकुश के लिए वन माफियाओं के विरूद्ध कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिया। मण्डल में वन क्षेत्र के विस्तार के लिए आयुक्त ने भूमि आवंटन कार्य में वृक्षारोपण कार्य को प्राथमिकता देने की बात कही। विद्युत विभाग को निर्देश दिया गया कि शासन द्वारा निर्धारित रोसटर एवं मानक के अनुसार विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने के साथ ही समय अन्तर्गत खराब ट्रांसफार्मर को बदला जाए तथा बलि त्रुटि के सम्बन्ध में प्राप्त होने वाली शिकायतों का समय से समाधान करें।
राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की समीक्षा के दौरान आयुक्त ने निर्देश दिया कि सरकार की रोज़गार एवं लाभार्थीपरक योजनाओं में अपेक्षित सहयोग न करने वाले बैंकों से सरकारी धन निकाल कर सहयोगी बैंकों में जमा करा दिया जाय। बीसी सखी, पीएम व सीएम आवास योजना, मनरेगा व ग्राम्य विकास विभाग द्वारा संचालित अन्य योजनाओं की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारियों को सुझाव दिया गया कि मनरेगा योजना में पायलेट प्रोजेक्ट के तहत अच्छा कार्य कराएं तथा योजनाओं की रैंक में अपेक्षित सुधार लाया जाय। स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये गये कि महिला अस्पतालों की महिला अधिकारियों से जाचं कराई जाय। मरीजों को प्राइवेट चिकित्सालयों में भर्ती कराने वाले कार्मिकों को चिन्हित कर उनकेे विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाय। सभी चिकित्सालयों में दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करायी जाय तथा मरीज़ों को बाहर की दवा न लिखी जाय।
पशुपालन विभाग की समीक्षा के दौरान आयुक्त मण्डल में निराश्रित गोवंशों को गौशाला में संरक्षित करने तथा अण्डा उत्पादन में वृद्धि के लिए प्रयास किया जाय। माध्यमिक शिक्षा की समीक्षा के दौरान संयुक्त निदेशक को निर्देश दिया गया कि बहराइच में कैम्प कर परीक्षा केन्द्रों के निर्धारण से सम्बन्धित समस्या का समाधान कराएं। सड़कों के निर्माण एवं अनुरक्षण कार्य की समीक्षा के दौरान अधीक्षण अभियन्ता लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिया गया कि अपने स्तर पर समीक्षा करते रहें। कौशल विकास मिशन की समीक्षा के दौरान के आयुक्त द्वारा निर्देश दिया गया कि संचालित प्रशिक्षण केन्द्रों का आकस्मिक रूप से निरीक्षण किया जाय। आयुक्त ने उद्योग विभाग को निर्देश दिया कि विश्कर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत लाभार्थियों को वितरित किये जाने वाले टूल किट की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाय।
पारिवारिक लाभ योजना की समीक्षा के दौरान आयुक्त ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि स्वयं योजना की समीक्षा कर प्रगति में अपेक्षित सुधार जाएं। रोस्टर के अनुसार नहरों के संचालन की समीक्षा के दौरान डीएम बलरामपुर को निर्देश दिया गया कि सिल्ट सफाई के कार्य को पूर्ध कराएं ताकि टेल तक पानी की उपलब्धता सुनिश्चित हो सके। स्वास्थ्य एवं पोषण सेक्टर में कार्य करने वाले स्वयंसेवी संगठनों से फीड बैक प्राप्त करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिया कि वीएचएसएनडी दिवस पर सभी सम्बन्धित कार्मिकों की उपस्थिति सुनिश्चित कराते हुए ए.एन.सी. जांच सुनिश्चित करायी जाय। इस कार्य की सीडीओ अपने स्तर से समीक्षा भी करते रहें।
इस अवसर पर संयुक्त विकास आयुक्त देवीपाटन मण्डल प्रदीप कुमार यादव, जिलाधिकारी बहराइच मोनिका रानी, गोण्डा की श्रीमती नेहा शर्मा, श्रावस्ती की कृतिका शर्मा, बलरामपुर के अरविन्द सिंह, वन संरक्षक मनोज कुमार सोनकर, मुख्य विकास अधिकारीगण तथा विभिन्न विभागों के मण्डलीय अधिकारी मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here