विद्यालयों में बच्चों की 70 प्रतिशत से अधिक उपस्थिति सुनिश्चित करायें बीईओ: डीएम

0
8
Advertisement

बहराइच । विभिन्न विभागों की परियोजनाओं के लिए भूमि उपलब्ध कराये जाने के उद्देश्य से शुक्रवार को देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक के दौरान जिलाधिकारी मोनिका रानी ने उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि विभिन्न विभागों के परियोजनाओं के लिए मांगी गयी भूमि की तलाश कर सम्बन्धित विभाग को यथाशीघ्र उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें ताकि परियोजनाओं का निर्माण कार्य समय से शुरू हो सके। प्रशासकीय विभागों को निर्देश दिये गये कि सम्बन्धित तहसील से समन्वय कर यथाशीघ्र भूमि की उपलब्धता सुनिश्चित कराते हुए निर्माण कार्य प्रारम्भ कराये।
जल जीवन मिशन की परियोजनाओं हेतु उपलब्ध करायी गयी भूमि से सम्बन्धित किसी प्रकार की समस्या का सम्बन्धित तहसील, जल निगम व सम्बन्धित कार्यदायी संस्था संयुक्त रूप से स्थलीय निरीक्षण कर समस्या का समाधान कराते हुए तत्काल आख्या उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। बेसिक शिक्षा विभाग की योजनाओं एवं कार्यो की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी द्वारा खण्ड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि विद्यालयों में बच्चों की कम से कम 70 प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित करायी जाय। खण्ड शिक्षा अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये गये कि बच्चों के अभिभावकों से भेंट कर उन्हें बच्चों को नियमित रूप से विद्यालय भेजने के लिए प्रेरित करें। बच्चों के अभिभावकों का मोबाइल नम्बर एकत्र कर बच्चों को प्रतिदिन स्कूल भेजने के लिए बल्क एसएमएस भेजने की व्यवस्था की जाय। डीएम ने यह भी निर्देश दिया कि ब्लाक स्तरीय टास्क फोर्स द्वारा नियमित रूप से मानक के अनुसार विद्यालयों का निरीक्षण किया जाय। बीएसए को अन्य लम्बित विभागीय कार्यो को यथाशीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिये गये।
इस अवसर पर डीडीओ महेन्द्र कुमार पाण्डेय, सीएमओ डॉ एस.के. सिंह, एसडीएम सदर डॉ पूजा यादव, नानपारा अजित परेस, कैसरगंज पंकज दीक्षित, महसी राकेश कुमार मौर्या, पयागपुर दिनेश कुमार, मोतीपुर संजय कुमार, जिला विद्यालय निरीक्षक नरेन्द्र पाण्डेय, बीएसए अव्यक्तराम तिवारी, ईओ नगर पालिका प्रमीता सिंह, अधिशाषी अभियन्ता विद्युत बहराइच शैलेन्द्र कुमार, नानपारा कृष्ण कुमार, कैसरगंज सौरभ निगम, जिला समाज कल्याण अधिकारी रमाशंकर, दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी वी.पी. सत्यार्थी, खण्ड विकास अधिकारी, खण्ड शिक्षा अधिकारी, कार्यदायी संस्थाओं के प्रतिनिधि तथा अन्य सम्बन्धित मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here