डीएम की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक

0
7
Advertisement

बहराइच । सोमवार को देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक के दौरान जिलाधिकारी मोनिका रानी व विधायक महसी सुरेश्वर सिंह ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया कि गुड सेमेरटियन (नेक आदमी) के बचाव के लिए दिये गये आदेश के अनुपालन में भारत सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के तत्क्रम में सभी सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों में बोर्ड स्थापित कराये जाएं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया गया कि इण्डियन मेडिकल एसोसिएशन के प्रतिनिधियों के साथ बैठक/कार्यशाला आयोजित कर प्रत्येक अस्पताल में बोर्डस लगवाए जाएं तथा व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाये। डीएम ने यह भी निर्देश दिया कि सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों में फार्म के प्रपत्र भी रखे जाएं तथा किसी घायल को लेकर अस्पताल पहुंचने वाले नेक आदमी से प्रपत्र भरवाकर उन्हें योजना से लाभान्वित कराया जाय।
डीएम ने यह भी निर्देश दिया कि अज्ञात वाहनों के कारण हिट एण्ड रन के मामलों में मृतक के आश्रितों को तोषण योजना के तहत आर्थिक सहायता दिलाए जाने हेतु थानों व अस्पतालों से विवरण एकत्रित कर पीड़ित परिवारों को लाभान्वित किया जाय। परिवहन विभाग को निर्देश दिया गया कि गुड सेमेरटियन तथा तोषण योजना से सम्बन्धित शासनादेश मा. जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध करा दिया जाय। विधायक श्री सिंह ने अधिकारियों को सुझाव दिया कि शिक्षण संस्थाओं के माध्यम से गुड सेमेरटियन तथा तोषण योजना का व्यापक प्रचार प्रसार कराया जाय। घायलों को बेहतर इलाज उपलब्ध हो सके इसके लिए विधायक महसी ने सीएमओ को सुझाव दिया कि ट्रामा सेन्टर का संचालन प्रारम्भ कराएं। ट्रामा सेन्टर के सफल संचालन में जनप्रतिनिधियों की ओर से हर संभव सहयोग प्रदान किया जायेगा।
डीएम मोनिका रानी व विधायक श्री सिंह ने परिवहन व यातायात विभाग को निर्देश दिया गया कि बगैर हेल्मेट मोटर साईकिल चलाने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जाए। डीएम व विधायक ने कहा कि युवाओं को हेल्मेट के प्रयोग हेतु जागरूक किया जाय। इस सम्बन्ध में यह भी सुझाव दिया गया कि बगैर हेल्मेट बाईक राईडिंग, स्टन्ट, ओवर स्पीडिंग तथा ट्रिपलिंग करने वाले युवकों को सख्त चेतावनी दी जाय तथा ऐसे युवकों के अभिभावकों को मौके पर बुलाकर उन्हें भी समझाया जाय। चेतावनी के बावजूद आदत में सुधार न आने पर सम्बन्धित के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाय।
बैठक के दौरान परिवहन विभाग व पुलिस विभाग द्वारा नियमित रूप से यातायात नियमों की जानकारी जन-जन तक पहुॅचाये जाने के उद्देश्य से वाल राईटिंग, हैण्डबिल्स, होर्डिंग्स व बैनर इत्यादि के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार करायें साथ ही सम्पूर्ण समाधान दिवस, चौपालों, शिविरों इत्यादि के अवसर पर भी सड़क सुरक्षा एवं यातायात नियमों की जानकारी उपलब्ध करायी जाय तथा स्कूली छात्र-छात्राओं को यातायात नियमों एवं संकेतों के बारे में भी जागरूक किया जाय। जिससे जनमानस को यातायात सम्बन्धी नियमों की जानकारी हो सके और दुर्घटना में कमी लायी जा सके। साथ ही विभिन्न हेल्पलाइन नम्बरों का वालराइटिंग भी कराया जाय। ताकि जरूरत पड़ने पर जनमानस सम्बन्धित से सहयोग प्राप्त कर सकें। उन्हांेने सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी को निर्देश दिया कि वाहन से होने वाले दुर्घटनाओं के सम्बन्ध में पुलिस प्रशासन व मजिस्टेªट को अनिवार्य रूप से सूचित किया जाय।
इस अवसर पर प्रभागीय वनाधिकारी बहराइच संजय शर्मा, उप जिलाधिकारी सदर पूजा चौधरी, पयागपुर दिनेश कुमार, पुसिल क्षेत्राधिकारी यातायात इरफान सिद्दीकी, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ एस.के. सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक नरेन्द्र देव, बीएसए अव्यक्तराम तिवारी, अधि. अभि. लोक निर्माण विभाग प्रदीप कुमार, एआरटीओ (प्रशासन) राजीव कुमार (प्रवर्तन) ओ.पी. सिंह, शिक्षण संस्थाओं के संचालक तथा अन्य सम्बन्धित मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here