डीएम की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई जिला शान्ति समिति की बैठक

0
30
Advertisement

बहराइच। ईदुज्जुहा (बकरीद) त्यौहार को शान्तिपूर्ण ढ़ंग से सौहार्दपूर्ण वातावरण में सम्पन्न कराये जाने के मद्देनजर जिलाधिकारी मोनिका रानी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय शान्ति समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में मौजूद सम्भ्रान्तजनों द्वारा आश्वस्त किया गया कि आसन्न बकरीद त्यौहार को शासन-प्रशासन की गाईडलाइन व दिशा निर्देशों का पालन करते हुए गत वर्षों की भांति सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनाया जायेगा।
बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने आश्वस्त किया कि सम्भ्रान्तजनों व धर्म गुरूओं की ओर से साफ-सफाई, बिजली, पानी इत्यादि के सम्बन्ध में जो महत्वपूर्ण सुझाव प्राप्त हुए हैं उसका समय से निराकरण कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि शान्ति समिति की बैठक का उद्देश्य यही है कि संभ्रान्तजनों के साथ बैठक कर महत्वपूर्ण सुझाव प्राप्त किया जाय और उसका समय से निराकरण कराया जाय। डीएम ने अधिशासी अधिकारियों व डीपीआरओ को निर्देश दिया कि नगरीय व ग्रामीण क्षेत्रों में समुचित साफ-सफाई विशेषकर धार्मिक स्थलों के आस-पास पर्याप्त साफ-सफाई करा दें। उन्होंने मौजूद लोगों का आहवान करते हुए कहा कि सफाई व्यवस्था में सभी की सहभागिता आवश्यक है। इस कार्य में सभी लोग भरपूर सहयोग देते हुए ग्रामीण व नगर क्षेत्र को साफ-सुथरा बनाये रखने में सहयोग करें। डीएम ने त्यौहार के अवसर पर नियमित जलापूर्ति व विद्युत आपूर्ति के लिए भी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया।
डीएम मोनिका रानी व पुलिस अधीक्षक प्रशान्त वर्मा ने कहा कि सभी लोग एक दूसरे की भावनाओं का सम्मान करते हुए भाईचारे के साथ त्यौहार को मनायें। असामाजिक तत्वों से सावधान रहें, यदि कोई अप्रिय बात हो तो उच्च अधिकारियों के संज्ञान में अवश्य लायें। डीएम व एसएसपी ने कहा कि त्यौहार के अवसर पर किसी नई परम्परा की अनुमति नहीं होगी। त्यौहार को पारम्परिक ढंग से मनायें, निर्धारित स्थलों पर ही कुर्बानी की जाय। प्रतिबन्धित जानवरो की कुर्बानी न की जाय तथा अवशेष का सम्मानजनक ढंग से निस्तारण किया जाय। सड़कों पर धार्मिक आयोजन न किये जायें तथा ध्वनि विस्तारक यन्त्रों का प्रयोग करने में शासन के दिशा-निर्देशों का अनुपालन करें।
डीएम व एसपी ने कहा कि शरारती व असामाजिक तत्वों पर सतर्क दृष्टि रखी जा रही है। किसी को कानून व्यवस्था के साथ खिलवाड़ करने की अनुमति नहीं होगी। गुड पुलिसिंग व्यवस्था रहेगी परन्तु माहौल को खराब करने वालों के विरूद्ध नियमानुसार सख्ती से कार्रवाई की जायेगी। बैठक के दौरान एसडीएम व सीओ को निर्देश दिया गया कि थाना स्तर पर पीस कमेटी की बैठक कर लें। बैठक के माध्यम से किसी समस्या के संज्ञान में आने पर उसका समय से निराकरण सुनिश्चित कराएं। एसडीएम को ग्रामीण क्षेंत्रो में साफ-सफाई व्यवस्था का पर्यवेक्षण करने के भी निर्देष दिये गये।
बैठक के दौरान मौ. मोईनुद्दीन कादरी, डॉ. मोहम्मद आलम सरहदी, तारिक अहमद, रूमी मियां, मौ. इनायत उल्ला कासमी, मनोज गुप्ता, दीपक सोनी उर्फ दाऊजी, रणवीर सिंह मुन्ना, मौलाना बशीर, सै. शमशाद अहमद एडवोकेट, सै. कल्बे अब्बास, डॉ. मो. अरशद रईस, सईद अख्तर, मौ. खालिद, राकेश चन्द्र श्रीवास्तव, रामू लाल, परशुराम कुशवाहा, बृजमोहन मातानहेलिया, श्रीमती निशा शर्मा, मौ. शाहिद, लड्डन नेता व कुलभूषण अरोड़ा सहित अन्य संभ्रान्तजनों द्वारा बिजली, पानी, साफ-सफाई के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण सुझाव दिये गये।
इस अवसर पर मुख्य राजस्व अधिकारी अवधेश कुमार मिश्र, अपर पुलिस अधीक्षक नगर कुंवर ज्ञानन्जय सिंह, नगर मजिस्ट्रेट शालिनी प्रभाकर, सीएमओ डॉ. एस.के. सिंह, एसडीएम सदर सुभाष सिंह धामी, कैसरगंज महेश कुमार कैथल, महसी राकेश कुमार मौर्या, पयागपुर दिनेश कुमार, मिहींपुरवा (मोतीपुर) संजय कुमार, नानपारा के अजित परेश, पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर राजीव सिसोदिया, कैसरगंज कमलेश सिंह, नानपारा राहुल पाण्डेय सहित अन्य जिला स्तरीय, नगर निकायों के अधिशासी अधिकारी, धर्मगुरू, गणमान्य व संभ्रान्तजन मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here