जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक संपन्न

0
16
Advertisement

शाहजहाँपुर। सांसद अरूण कुमार सागर की अध्यक्षता में विकास भवन स्थित सभाकक्ष में शनिवार को जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति (दिशा) की बैठक संपन्न हुई। बैठक के दौरान जनपद में संचालित केन्द्रीय योजनाओं की समीक्षा करते हुए सांसद ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि समिति द्वारा दिए गए निर्देशों का समयांतर्गत अनुपालन सुनिश्चित किया जाए।सांसद ने सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि जन समस्याओं का बेहतर निस्तारण सुनिश्चित किया जाये, जिससे लाभार्थीपरक योजनाओं से पात्रों को लाभन्वित किया जा सके। कौशल विकास केन्द्रों एवं इनमे संचालित पाठ्यक्रमों की सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। बैठक के दौरान महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना, दीन दयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना, प्रधानमंत्री सड़क योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी/ग्रामीण, राष्ट्रीय ग्रामीण पेय जल कार्यक्रम, दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, अमृत योजना, सर्व शिक्षा अभियान, समेकित बाल विकास सेवाएं, मध्याह्न भोजन योजना, प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना सहित अन्य योजनाओं की समीक्षा की गयी।  बैठक के दौरान वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने निर्देशित करते हुए कहा कि मनरेगा योजना के अन्तर्गत उपयोगी कार्य ही कराये जाये, जिसका अधिक से अधिक लोग लाभ ले सकें। उदाहरण के तौर पर उन्होने बताया कि खेल के मैदानो को मनरेगा योजना के अन्तर्गत चिन्हित करते हुये विकसित कराये जाने से न सिर्फ गांव में एक सुविधा का विकास होगा बल्कि खिलाड़ियो को प्रोत्साहन भी मिलेगा और वह विभिन्न प्रतियोगिताओं में बेहतर प्रदर्शन करते हुए अपने क्षेत्र, जनपद एवं प्रदेश का नाम रोशन कर सकेगें। गांव में बेहतर प्लानिंग के साथ कार्य कराये जाने के निर्देश भी माननीय मंत्री जी ने दिये। उन्होंने कहा कि ग्राम स्तर पर कराये जा रहे कार्यों का नियमित रूप से अनुश्रवण भी किया जाये। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत सभी पात्र कृषकों को आच्छादित कर योजना का लाभ दिलाये जाने हेतु तथा सम्बन्धित अधिकारियो/कर्मचारियों के नाम सभी ब्लाकों में वाल पेटिंग के माध्यम से प्रदर्शित कराये जाने के निर्देश भी दिये। मानको के अनुरूप निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने हेतु भी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशत किया। इसके साथ ही उन्होने कहा कि व्यापक स्तर पर वृक्षारोपण कराया जाये। जल जीवन मिशन शहरी एवं ग्रामीण के अन्तर्गत डाली गयी पाइपलाइन के बाद सड़को के रिस्टोरेशन कार्य को पूर्ण गुणवत्ता के साथ कराये जाने के उपरान्त ही सम्बन्धित संस्था को भुगतान किये जाने हेतु निर्देशित किया। ब्लाक दिवस को नियमित रूप से आयोजित कराये जाने हेतु भी निर्देशित किया। उन्होने सभी अधिकारियों को प्रेरित करते हुये कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप गुणवत्तापूर्ण कार्य सुनिश्चित किये जाये। पूरी निष्ठा के साथ कार्यो को करना चाहिए। उन्होने अधीनस्थ अधिकारियों एवं कर्मचारियों का नियमित रूप से पर्यवेक्षण सुनिश्चित किये जाने के निर्देश भी दिये।बैठक के दौरान महापौर अर्चना वर्मा ने कहा कि अमृत योजना के अन्तर्गत नगरीय क्षेत्रों में घरो में कनेक्शन दिये जाने के उपरान्त पाईप खुले न छोड़े जाये, जिससे अनावश्यक रूप से शुद्ध जल की बरबादी न हो। उन्होने नगर क्षेत्र के अन्दर निर्धारित रोस्टर के अनुसार जलापूर्ति करने के निर्देश दिये। लोगो को जल संरक्षण हेतु प्रेरित करने हेतु भी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here