प्रभारी मंत्री ने जिले के अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक

0
6
Advertisement

हराइच । जनपद के एक दिवसीय भ्रमण पर आये प्रदेश के मा. मंत्री, मत्स्य/प्रभारी मंत्री जनपद बहराइच डॉ. संजय कुमार निषाद ने संभावित बाढ़ के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी मोनिका रानी ने बताया कि राहत एवं बचाव कार्य के लिए तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। राहत सामग्री एवं पशुओं के चारे इत्यादि की खरीद हेतु टेण्डर को अपलोड कर दिया गया है। बाढ़ चौकियों की साफ-सफाई व रंग-रोगन का कार्य प्रगति पर है। पंचायतों में उपलब्ध नावों व नाविकों के सत्यापन का कार्य पंचायत राज विभाग द्वारा किया जा रहा है। जनपद में तटबन्धों की सुरक्षा तथा कटान रोधी कार्यों हेतु शासन द्वारा स्वीकृत 05 परियोजनाओं में 04 पूर्ण हो गई हैं जबकि 01 परियोजना का कार्य अन्तिम चरण में है।
प्रभारी मंत्री ने सुझाव दिया कि बाढ़ से प्रभावित होने वाले क्षेत्रों में ग्रामवासियों के साथ बैठक कर राहत एवं बचाव कार्य के सम्बन्ध में उनसे भी सुझाव प्राप्त कर लिया जाय। डॉ. निषाद ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया बाढ़ प्रभावित के गम्भीर प्रकृति के रोगियों को पूर्व से चिन्हित कर संभावित बाढ़ के दौरान उनके उपचार हेतु प्रभावी कार्ययोजना तैयार कर ली जाय। कटानरोधी परियोजनाओं की समीक्षा के दौरान प्रभारी मंत्री ने जनप्रतिनिधियों को भी स्थलीय निरीक्षण करने का सुझाव दिया। विधायक महसी सुरेश्वर सिंह व प्रभारी मंत्री द्वारा सुझाव दिया गया कि वर्षा से पूर्व तटबन्धों का निरीक्षण कर रैट होल व रेन कट की मरम्मत करा ली जाय। विधायक महसी ने यह भी सुझाव दिया कि ग्राम पंचायतों में उपलब्ध नावों का भी सत्यापन कर आवश्यक मरम्मत करा दी जाय। प्रभारी मंत्री ने सुझाव दिया कि बाढ़ के दौरान राहत व बचाव कार्यों को संचालित करने हेतु बाढ़ के पूर्व ही रूट मैप तैयार कर लिया जाय ताकि आवश्यकता पड़ने पर किसी प्रकार की असुविधा न हो।
प्रभारी मंत्री डॉ. निषाद ने वैकल्पिक ऊर्जा, समाज कल्याण, विद्युत, कृषि, ग्राम्य विकास, मत्स्य, लोक निर्माण, खनिज, स्वास्थ्य, बेसिक शिक्षा, पशुपालन इत्यादि विभागीय योजनाओं की सीएम डैश बोर्ड पर प्रदर्शित हो रही प्रगति की समीक्षा के दौरान निर्देश दिया कि किसी भी दशा में जिले की प्रगति मण्डल स्तर से निम्न नहीं होनी चाहिए। सोलर स्ट्रीट लाइट की समीक्षा के दौरान डीएम ने पी.ओ. नेडा को निर्देश दिया कि जनप्रतिनिधियों से सम्पर्क कर 02 दिवस में प्रस्ताव प्राप्त कर लें। एसटी/एससी छात्रवृत्ति योजना की समीक्षा के दौरान प्रभारी मंत्री ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया कि विभागीय योजनाओं की पात्रता, शासनादेश एवं अन्य विवरण जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध करा दिया जाए तथा योजनाओं से सम्बन्धित विवरण ग्राम सचिवालय पर चस्पा करा दिया जाय। विभागीय योजनाओं के प्रचार-प्रसार हेतु यह भी सुझाव दिया गया कि व्हाट्सअप ग्रुप बनाकर भी शेयर करें।
विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान प्रभारी मंत्री ने निर्देश दिया कि टास्कफोर्स बनाकर जर्जर तारों व खराब ट्रांसफार्मर्स को ठीक कराया जाय। लोकल फाल्ट को कम से कम समय में ठीक कराएं। जनप्रतिनिधियों से समन्वय रखें तथा आमजन के फोन रिसीव न करने की परिपाटी तत्काल बन्द की जाय। कृषि विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये गये विभागीय पोर्टल खुलने की जानकारी जनप्रतिनिधियों को अवश्य दी जाय तथा व्यापक प्रचार-प्रसार भी कराया जाय ताकि अधिक से अधिक योजनाओं का लाभ प्राप्त कर सकें। सड़क निर्माण से सम्बन्धित विभागों को निर्देश दिये गये कि मार्गों का सत्यापन कर वर्षा ऋतु से पूर्व टूट-फूट की मरम्मत करा दी जाय।
स्वास्थ्य विभाग की योजना की समीक्षा के दौरान मेडिकल कालेज के महर्षि बालार्क चिकित्सालय तथा जिले के स्वास्थ्य केन्द्रों की व्यवस्थाओं पर जनप्रतिनिधियों द्वारा नाराज़गी व्यक्त करने पर प्राचार्य मेडिकल कालेज व सीएमओ को निर्देश दिया गया शिथिल व लापरवाह अधिकारियों एवं कर्मचारियों को तत्काल हटाया जाय तथा व्यवस्थाओं में अपेक्षित सुधार लाकर आमजन को शासन द्वारा अनुमन्य सेवाएं एवं सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएं। बेसिक शिक्षा की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये गये कि बीईओ ग्राम शिक्षा समिति के साथ नियमित बैठकें कर शिक्षा में सुधार हेतु सुझाव प्राप्त किये जाएं। कर्तव्यों के प्रति उदासीन शिक्षा मित्रों के विरूद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाय।
पशुपालन विभागी की समीक्षा के दौरान सेक्स सार्टेस सिमेन का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाय ताकि अधिकाधिक पशुपालक लाभान्वित हो सकें। बाढ़ के दौरान पशु चिकित्साधिकारियों की ड्यूटी लगा दी जाय ताकि पशुओं को बेहतर उपचार मिल सके। मत्स्य विभाग की समीक्षा के दौरान बाढ़ विभागीय योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार कर पात्र मत्स्य पालकों को लाभान्वित किया जाय। मनरेगा योजना के तहत निर्मित तालाबों को मत्स्य पालन के लिए उपयोग में लाया जाय। बैठक के अन्त में डीएम ने प्रभारी मंत्री व जनप्रतिनिधियों का आभार ज्ञापित करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिया कि बैठक में प्राप्त हुए सुझावों का अनुपालन सुनिश्चित कराएं। जबकि एसपी बृन्दा शुक्ला ने जिले की कानून व्यवस्था के सम्बन्ध में आवश्यक जानकारी प्रदान की।
इस अवसर पर नवनिर्वाचित सांसद आनन्द कुमार, एमएलसी डॉ. प्रज्ञा त्रिपाठी, विधायक पयागपुर सुभाष त्रिपाठी, महसी के सुरेश्वर सिंह, नानपारा के राम निवास वर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष बृजेश पाण्डेय, निषाद पार्टी जिलाध्यक्ष मनोज कुमार निषाद, सीडीओ रम्या आर., एडीएम गौरव रंजन श्रीवास्तव व डीएफओ कतर्नियाघाट बी. शिव शंकर सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here