जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में जिलाधिकारी के तेवर रहे तल्ख

0
7
Advertisement

बहराइच । जिला स्वास्थ्य समिति के शासी निकाय तथा जिला स्तरीय पोषण समिति व कुपोषण मुक्त गांवों की प्रगति की समीक्षा हेतु शुक्रवार को देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक के दौरान जिलाधिकारी मोनिका रानी के स्वास्थ्य योजनाओं एवं कार्यक्रमों की सघन समीक्षा करते हुए पीपीआईयूसीडी  डाटा में सुधार न होने तथा शल्य चिकित्सकों द्वारा मानक से कम सर्जरी करने पर कड़ी नाराज़गी जताते हुए डाटा में सुधार न होने तक मुख्य चिकित्साधिकारी, समस्त एमओआईसी व डीपीएम का माह जून का वेतन बाधित करने का निर्देश दिया। जबकि मानक से कम सर्जरी करने पर डीएम ने सभी सम्बन्धित शल्य चिकित्सकों की वार्षिक वेतनवृद्धि रोकने तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जरवल में तैनात सीएचओ आकाश के निरन्तर अनुपस्थित रहने का कड़ा संज्ञान लेते हुए पदेन कर्तव्यों के प्रति लापरवाह सीएचओ को सेवा से हटाये जाने के निर्देश दिये।
बैठक के दौरान डीएम ने निर्देश दिया कि भरथापुर में बाढ़ से पूर्व पुष्टाहार का वितरण करा दिया जाय तथा वृहद स्वास्थ्य शिविर आयोजित कर ग्रामवासियों को स्वास्थ्य परीक्षण कर चिकित्सकीय सेवाएं उपलब्ध करा दी जाएं। डीएम ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को सुझाव दिया कि अभिनव पहल के तहत जनपद के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर उपचार हेतु आने वाले मरीज़ों विशेषकर महिलाओं के साथ आने वाले बच्चों के लिए एक कक्ष को पालन घर के रूप में विकसित कर वहां पर खिलौनों का प्रबन्ध करते हुए केयर टेकर के तौर पर एक आंगनबाड़ी कार्यकत्री को तैनात कर दिया जाय ताकि मरीज़ सुकून के साथ चिकित्सक से परामर्श/इलाज करा सकें।
डीएम ने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिया कि गुडवर्क करने के वाले स्वास्थ्य वर्करों को उचित मंच पर सम्मानित किया तथा दूसरे कर्मचारी भी अच्छा कार्य करने के लिए प्रेरित हों। डीएम ने कहा कि सीएचसी एवं पीएचसी भवनों के टूटे खिड़की दरवाज़ों एवं इलेक्ट्रानिक उपकरणों की आवश्यक मरम्मत करा दी जाये तथा भवनों का रंग रोगन भी करा दिया जाय। डीएम ने स्वास्थ्य केन्द्रों पर उपलब्ध अतिरिक्त भूमि पर पेड़ पौधे लगाने का भी सुझाव दिया। संचारी रोग नियंत्रण अभियान की समीक्षा के दौरान कतिपय विभागों से सहयोग प्राप्त न होने पर निर्देश दिया कि सभी विभाग कार्ययोजना के अनुसार समस्त कार्यवाही समय से पूर्ण करा लें ताकि जनपद में सफलतापूर्वक अभियान संचालित हो सके।
नगर निकायों के अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि वर्ष 2020 से पैदा होने वाले समस्त बच्चों का पंजीकरण कराकर जन्म प्रमाण पत्र निर्गत कराया जाय। आयुष्मान कार्ड की धीमी प्रगति पर निर्देश दिया गया कि प्रति समीक्षा कर अधिकाधिक लोगों के गोल्डेन कार्ड बनवाया जाय। स्कूल आई स्क्रीनिंग कार्य की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये गये कि शत-प्रतिशत बच्चों एवं बुज़ुर्गों को चश्मे का वितरण किया जाय। इस सम्बन्ध में बीएसए को सीएमओ से समन्वय करने के निर्देश दिये गये। टीकाकरण की समीक्षा के दौरान प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिये गये कि प्रत्येक बुधवार होने वाली बैठक में आशावार टीकाकरण की समीक्षा कर प्रगति में सुधार लाया जाय। जननी सुरक्षा योजना की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये गये कि लाभार्थियों एवं आशा का भुगतान समय से किया जाय।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी रम्या आर, साएमओ डॉ. राजेश कुमार, सीएमएस डॉ. एम.एम.एम. पाण्डेय, डीपीएम सरयू खान, डीपीओ राज कपूर सहित अन्य अधिकारी, एमओआईसी, सीडीपीओ व अन्य सम्बन्धित मौजूद रहे।    

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here