आकांक्षात्मक ब्लाक हुजूरपुर में आयोजित हुआ फील्ड डे

0
35
Advertisement

बहराइच । “उत्तर प्रदेश मिलेट्स पुनरोद्धार कार्यक्रम अन्तर्गत श्री अन्न के उत्पादन एवं उपभोग को बढावा देने हेतु बीज मिनीकिट प्रदर्शन खेत पर फील्ड डे का आयोजन ब्लाक हुजूरपुर के आकांक्षी ग्राम निजामपुर में नेचुरल फार्मर्स प्रोड्यूसर लिमिटेड के कृषकों द्वारा लगाई गई फसल पर किया गया। कार्यक्रम में उप कृषि निदेशक टीपी शाही उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी अरविन्द कुमारए वरिण्प्राण्सहाण् ग्रुप.एए वीण्केण् सिंह सलाहकार नेशनल फूड सिक्योरिटी मिशन योजनाए फत्तेदास ग्राम प्रधान निजामपुर.भगरिया दिनेश मौर्या ,लक्ष्मन प्रसाद मौर्या ,मनोहर लाल, रामजस निदेशक हुजूरपुर नेचुरल फार्मर्स प्रोड्यूसर लिमिटेड एवं एफण्पीण्ओण् के अन्य सदस्य तथा प्रबंधक के साथ 200 कृषकों द्वारा प्रतिभाग किया गया।कार्यक्रम में प्रबंधक एफपीओ दिनेश मौर्या द्वारा अवगत कराया गया कि उनके द्वारा कृषि विभाग द्वारा उपलब्ध कराई कोदोध्इन्दरा की बुवाई अपने एफपीओ के साथ लगभग 04 एकड में की गई है। उनके द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि फसल प्रदर्शन को देखकर ग्राम पंचायत के अन्य कृषकों द्वारा भी श्री अन्न की खेती करने हेतु इच्छा जताई गई। बैठक में उपस्थित वीण्केण् सिंह सलाहकार द्वारा कृषकों को श्री अन्न के उपभोग के फायदे बताते हुए अवगत कराया गया कि विश्व पटल पर आज श्री अन्न के उपभोग में वृद्धि हो रही है। श्री अन्न में प्रचुर मात्रा प्रोटीनए फाइबर होता है जिसके उपभोग से कई बडी.बडी बिमारियों जैसै शुगरए उच्च रक्त चापए मोटापा आदि से बचा जा सकता है। उप कृषि निदेशक द्वारा कृषकों को श्री अन्न के उपभोग एवं उत्पादन के बारे में जानकारी देते हुए बताया गया कि श्री अन्न शरीर को स्वस्थ्य रखने के सबसे सस्ते साधन है इनके सेवन से इंसान तमाम प्रकार की बीमारी से बचा जा सकता है। कृषक भाई श्री अन्न के उपभोग के साथ अधिक मात्रा में उत्पादन कर बाजार में भी विक्रय कर सकते हैं जिनकी कीमत आज अन्य अनजों की तुलना में बाजार में अधिक है।
उन्होनें यह भी बताया गया कि कृषक भाई कृषक उत्पादक संगठन का गठन कर संगठित होकर कृषि करें जिससे उनकी एकत्रित उपज का अधिक से अधिक मूल्य उन्हें प्राप्त होगा तथा वह मोल.भाव करने की अधिक क्षमता रख पायेंगे। अवगत कराया गया कि कृषक उत्पादक संगठनो को सरकार द्वारा 40 से 80 प्रतिशत के अनुदान पर कृषि यंत्रों का लाभ दिया जा रहा। जिसे कृषि विभाग के पोर्टल से आनलाइन टोकन जनरेट कर प्राप्त किया जा सकता है। उप कृषि निदेशक द्वारा उपस्थित कृषकों से अनुरोध किया गया कि वर्तमान समय में धान की कटाई के उपरान्त आप सभी पराली फसल अवशेषों को जलाये नहीं इससे पार्यावरण को बहुत क्षति पहुँचती है तथा मिट्टी में पाये जाने वाले जीवाणु मर जाते हैं जिससे मृदा की उर्वरा शक्ति कम हो जाती है साथ ही पराली जलाने पर सरकार द्वारा दण्ड का भी प्राविधान है अतः कृषक भाई अपनी पराली जलाने के स्थान पर उसे बायो डि.कम्पोजरए बेस्ट डी.कम्पोजर का प्रयोग कर खेतों में ही सडा लें जिससे वह खेतों में खाद का काम करेगी एवं मृदा की उर्वरा शक्ति को बढाकर उत्पादन को बढायेगी। कार्यक्रम में हुजूरपुर नेचुरल फार्मर्स प्रोड्यूसर लिमिटेड के सदस्य कृषकों उप कृषि निदेशक द्वारा फार्मर्स शेयर प्रमाण.पत्र भी वितरित किया गया। इसके उपरान्त उपस्थित समस्त कृषकों के साथ प्रदर्शन खेत का स्थलीय भ्रमण कर कार्यक्रम की समाप्ति की गई।

Advertisement
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here